Skip to main content

About us

original Logo shortlogo

Your number one free source for all kinds of medicinal knowledge. We're dedicated to giving you the very best of knowledge about all the disease and their remedies, with a focus on public health, general awareness and to boost your knowledge about medicines. Founded in 2020 by the members of your cure, your cure has come a long way from its beginning. When we first started out, our passion for medicinal knowledge - e.g. "diseases and their treatments and current medical technologies are now helpful to others. We now serve customers all over [place - town, country, the world], and are thrilled that we're able to turn our passion into our own website. we hope you enjoyed our contents as much as we enjoy offering them to you. If you have any questions or comments, please don't hesitate to contact us.


auther

I am Naman Jain (Social Monk)."Your Cure" is my First blog, Founded in 2020 by Me. Since the first post of Your Cure, it has come a long way from it's beginnings. When I first started out, my passion for Health and medicine information has proven beneficial to others. I am thrilled that I am able to turn my passion into my own website.
to know more about me you can join me on:

I hope you enjoy my content as much as I enjoy offering them to you. If you have any questions or comments, please don't hesitate to contact Me.





Sincerely,
Naman Jain
attitude.royal@gmail.com

Popular posts from this blog

दवाइयों का सामान्य ज्ञान (भाग-2)

दोस्तों, कोरोना महामारी में लॉक डाउन की घोषणा के दौरान प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी ने हम सबको सलाह दी थी कि इस समय सामान्य बीमारियों के लिए के इलाज के लिए कम से कम अस्पताल जाने की सलाह दी थी,जिससे उन पर पड़ने वाला दबाब कुछ हद तक कम हो सके। उनकी सलाह का अनुसरण करते हुए हमारे कुशल डॉक्टरों ने कुछ बीमारियों के लिए दवाइयों के नाम सुझाये हैं। सामान्य स्थिति में आप इस दवाओं का सेवन कर सकते हैं अगर आप किसी स्पेशल मेडिकल कंडीशन में हैं या आप गर्भवती हैं, तो इन दवाओं के सेवन से पहले डॉक्टर की सलाह अवश्य लें।। कुछ दवाओं के नाम इस प्रकार हैं।   ◆सर दर्द- vasograin,saridon,disprin  ◆उल्टी - vomikind, reglan  ◆दस्त - Norflox-TZ,Brakke,O2 ◆एलर्जी - cetrazin,CZ3,Avil ◆चक्कर- stementil-MD ◆मंसूडों का दर्द- Flozan-AA+Prednisolone मंसूडों में दर्द अधिक होने पर इन टेबलेट के साथ Dentaforce-DT या ketorol-DT का सेवन कर सकते हैं। ◆एलर्जी से जुक़ाम/ छीकें आना - monticope, milolast-LC ◆कमजोरी/थकान महसूस होने पर- cap. Neurokind gold ,Zincovit, revital ◆छाले होने पर-Antibiotic tablet+ because ◆फंगल इन्फेक्शन होन

दवाइयों का सामान्य ज्ञान।।

आज, कोरोना महामारी की वजह से अस्पतालों पर असामान्य रूप से मरीजों का दबाब बढ़ता जा रहा है, डॉक्टर सामान्य मरीजों को पूर्ण समय देने में असमर्थ हैं तथा हमें भी सामान्य बीमारियों में अस्पताल जाने से बचना चाहिए तथा उन छोटी छोटी बीमारियों के इलाज की जानकारी स्वयं रखना चाहिए, आज में आपके साथ कुछ सामान्य बीमारियों की के ईलाज़ के लिए ली जाने वाली दवाईओ के बारे मे अपना ज्ञान साझा करना चाहता हूं।।   रोग                         --                    दवाई सामान्य बुख़ार          --     पेरासिटामोल सामान्य शारीरिक दर्द--   असक्लोफेनक, निमेसुलीड, डिक्लोफेनेक दर्द+सूजन   -- असक्लोफेनक+serratiopeptidase      "" "".      --Diclofenac +serratiopeptidase पेट दर्द       -- मेफ्टल सपास  ज़ुकाम     -- सिनरेस्ट, सूमो कोल्ड, हैट्रिक-3.. खांसी     - - Tussin-DMR, ambroxil....  ज़ुकाम, खांसी की दवा के साथ एंटीबायोटिक दवा भी ली जा सकती है जो काफी असरदारक साबित होती हैं संक्रमण को रोकने के लिए, कुछ एंटीबायोटिक दवा--- Azithromycin, levofloxaxin ।।।  घुटने का दर्द। -- Glucosamine ।। नोट:-

हिमालयन वियाग्रा

चर्चा में होने का कारण हिमालयन वियाग्रा को IUCN की लाल सूची में असुरक्षित प्रजाति(Vulnerable) का दर्जा दिया गया, बाजार में इस फंगस ,हिमालयन वियाग्रा की  कीमत 20 लाख रुपये प्रति किलो तक है। ■ हिमालयन वियाग्रा - यह फंगस एक प्रकार का परजीवी है जो  अपने विकास के लिए किसी दूसरे जीव पर निर्भर रहता है, दूसरे जीव को यहां caterpillar कहा जाता है जिसके अंदर यह फंगस अपना विकास करता है, यह फंगस चीन,कोरिया में बहुत प्रचलित है जिसका उपयोग कामोत्तेजना में किया जाता है जिसे तकनीकी रूप में Aphrodisiac  कहा जाता है।   इस फंगस का वैज्ञानिक नाम -  Cordyceps fungus- ophiocordyceps sinensis  इस  फंगस को कई अलग अलग नामों से जाना जाता है। ●हिमालयन वियाग्रा ●चीनी कैटरपिलर फंगस ● यरतसा गम्बू ●कीड़ा जड़ी ■यह फंगस का रहवास हिमालयन के पर्वतों पर है, जहाँ की समुद्र तल से ऊंचाई 3000 मीटर से 5000 मीटर हो। यह उत्तराखंड,सिक्किम,नेपाल,,तिब्बत,भूटान,चीन के प्रान्त यूनान में अधिक पायी जाती है। इस फंगस को लैबोरेटरी में नहीं बनाया जा सकता ,यह प्राकृतिक वातावरण में ही मिलती है जहाँ साल के अधिकांश समय बर्फ की चादर और गर्मियों म